Wednesday, January 02, 2008

गूगल का डूडल

अगर आपने पहली जनवरी को गूगल खोला होगा तो आपको ये लोगो जरूर दिखा होगा जिसमें लिखा हुआ था "Happy New Year & 25 years of TCP/IP"। ये गूगल कि खूबी है कि वो लगभग हर देश के त्योहारों और दुनिया के महत्वपूर्ण दिनों पर नजर जमाये बैठा रहता है और वो दिन आते ही उस पर अपना एक डूडल चिपका डालता है। 25 years of TCP/IP के बारे में ज्यादा जानने के लिये यहां चटखा लगायें।

सबसे पहले हम जानते हैं कि ये डूडल आखिर है क्या? गूगल का जो लोगो www.google.com पर दिखता है उसे ही गूगल डूडल कहता है।

इसकी शुरूवात कहां से हुई? सन 1998 में सर्जे ब्रिन नामक व्यक्ति ने इसे सबसे पहले GIMP नामक साफ्टवेयर का प्रयोग करके बनाया था और इसके शुरूवाती दिनों के डूडल कुछ इस प्रकार हैं।

विकिपिडिया से लिया गया

इसमें से विस्मयकारी चिन्ह वाला डूडल याहू के लोगो से प्रेरित था।

आजकल डेनिस हांग(Dennis Hwang) नामक व्यक्ति डूडल बनाने कि जिम्मेवारी संभाल रहे हैं और इनका मुख्य काम उत्सव संबंधी गूगल के लिये लोगो बनाने का है। इन्होंने पहला डूडल 15 जुलाई 2000 को लैरी पेज (Larry Page) और सर्गे ब्रिन(Sergey Brin) के अनुरोध पर बनाया था।

Doodle4Google
Doodle4Google नाम से ब्रिटेन में एक प्रतियोगिता भी होती है जिसमें 5 साल से 16 साल तक के बच्चे भाग लेते हैं। और इसके पुरस्कार में गूगलप्लेक्स कैलिफ़ोर्निया घूमने का मौका मिलता है। और एक दिन के लिये उनका बनाया हुआ डूडल ब्रिटेन वाले गूगल के साईट पर दिखता है।

मैंने भी अपने इस ब्लौग के लिये गूगल जैसा ही डूडल बनाया है अब आप ही बतायें कि ये कैसा है? :D

8 comments:

अनुनाद सिंह said...

भाई यह सुनकर कि आप एक तकनीकी चिट्ठा लिखने जा रहे हैं, मजा आ गया। आपका हार्दिक अभिनन्दन है। हिन्दी में तकनीकी विषयों पर लिखने की बहुत जरूरत है और इसी लिये आपका चिट्ठा महत्वपूर्ण हो जाता है।

आशा है कि आप रुचिकर और उपयोगी तकनीकी जानकारी से हम सबको तरोताजा रखेंगे। इसके साथ ही हिन्दी के लिये आवश्यक कुछ छोटे-मोटे प्रोग्राम/ टूल आदि भी बनाकर हिन्दीजगत की सहायता करते रहेंगे।

पुन: स्वागतम् !

Avinash said...

Gteat Blog... Mazedaar... Lage Raho...

अनुराग said...

बहुत अच्छी जानकारी

उन्मुक्त said...

आपका यह चिट्ठा पसन्द आया। कुछ और इस तरह की बात बताइये।

Aflatoon said...

संवाद बना रहेगा ।

Raviratlami said...

ग्रेट पोस्ट. इसी तीव्रता के साथ नियमितता बनाए रखें.

Vivek Rastogi said...

बहुत बढिया।

ATULGAUR (ASHUTOSH) said...

very good